उपरोक्त शीर्षक चित्र श्री श्री राधा श्याम सुंदर , इस्कान मंदिर वृन्दावन, तिथि 15.04.2010 के दर्शन (vrindavan darshan से साभार ).

सोमवार, 22 दिसंबर 2008

तुम्हारा जन्म दिन

मुझे सबसे प्यारा तुम्हारा जन्म दिन
मेरी जिंदगी का सहारा जन्म दिन, तुम्हारा जन्म दिन...................

बड़ी इंतजारी करा के जो आता
मैं साल भर जिसके सपने सजाता
हर बार रब से दुआ ये ही करता
हर बार आए दुबारा जन्म दिन
तुम्हारा जन्म दिन...........................................

कभी कार्ड भेजा कभी फूल भेजा
कभी दिल की बातों को दिल में सहेजा
कभी हंस के रो के कभी तिल मिला के
कभी कैसे कैसे गुज़ारा जन्म दिन
तुम्हारा......................................................

कभी फ़ोन में तुमको शुभ कामना दी
कभी गीत में भरके शुभ भावना दी
मगर ये शिकायत रही मौन तेरा
नहीं तोड़ पाया तुम्हारा जन्म दिन
तुम्हारा.................................................

पच्चीस पचत्तर या सौ हों या ज्यादा
तुम्हारा जन्म दिन मानाने का vada
है पक्का इरादा नहीं कोई बाधा
ari मेरी "राधा" तुम्हारा जन्म दिन
तुम्हारा जन्म...................योगेश swapn

1 टिप्पणी:

विनय ने कहा…

भई मज़ा आ गया

-----------------------------------
http://prajapativinay.blogspot.com