उपरोक्त शीर्षक चित्र श्री श्री राधा श्याम सुंदर , इस्कान मंदिर वृन्दावन, तिथि 15.04.2010 के दर्शन (vrindavan darshan से साभार ).

बुधवार, 21 जनवरी 2009

मेरा सनम

अब ना पूछो कौन है मेरा सनम


दो जहाँ का डॉन है मेरा सनम




साथ जन्मों से रहा जिसके सदा


अब भी NEWLY बोर्न है मेरा सनम




नेति नेति करके कितने सो गए


सिर्फ़ SILENCE ZONE है मेरा सनम




इश्क हो जाता जहाँ पर ON है

उस जगह ISKCON (में) है मेरा सनम


----------------------------


2 टिप्‍पणियां:

दिगम्बर नासवा ने कहा…

Good mixture of writing..........
well said

विनय ने कहा…

बहुत अच्छे

---आपका हार्दिक स्वागत है
चाँद, बादल और शाम